सैल

सीईएल, ने सौर ऊर्जा का दोहन करने की अपनी प्रतिबद्धता के साथ, सौर फोटोवोल्‍टाइकी के क्षेत्र में नया परिदृश्‍य उपस्थित किया है। इस अत्याधुनिक स्क्रीन प्रिंटिंग तकनीक के साथ क्रिस्टलीय सिलिकॉन सौर सैलों और मॉड्यूलों का निर्माण करने के लिए एक एकीकृत उत्पादन सुविधा के समर्थन से, कंपनी ने ग्रामीण और औद्योगिक दोनों अनुप्रयोगों के लिए, भारत में और विदेशों में 5 लाख रुपए से अधिक एसपीवी प्रणालियों की आपूर्ति की है। 

सीईएल अपनी मॉड्यूल विनिर्माण क्षमता बढ़ाकर 40 MWp करने की प्रक्रिया में है और उत्पादन अगस्त 2014 से शुरू होने की उम्मीद है। 

सीईएल के उत्पाद को पूर्णत: राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप हैं। पीवी मॉड्यूलों का आईईसी 61215 / 61730by टीयूवी, रीनलैंड के लिए परीक्षण किया जा रहा हैं। हमारे मॉड्यूलों का गैर-परंपरागत ऊर्जा स्रोत मंत्रालय के सौर ऊर्जा केन्द्र (एसईसी) (एमएनईएस) भारत सरकार द्वारा सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया है।

निर्दिष्टीकरण 

सामग्री क्रिस्टलीय सिलिकॉन
आकार 156मिमी 156मिमी (स्‍यूडो स्‍क्‍वायर)
सतह बुनावट
मोटाई 200 (+ - 20) माइक्रो मीटर
आईएससी 8.5 एम्प
वीओसी 620 एमवी
इम 7.8 एम्प
वीएम 510 एमवी
पीएम 4.0 वाट
फिल फैक्टर 74.0%

एसटीसी (मानक परीक्षण)

हवा का द्रव्यमान ए एम 1.5
सौर प्रकाश/ तीव्रता 100 मिल्ली वाट / सेमी2 2
सैल तापमान 25डिग्री सेन्टी. oC
(+5% तक मापन छूट के साथ)

निरंतर आन्‍तरिक सुधार के कारण विनिर्देशनों में पूर्व सूचना के बिना परिवर्तन किया जा सकता है।