हमारे बारे में

सैंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग (डीएसआईआर), विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम है। इसकी स्‍थापना वर्ष 1974 में देश की राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं और अनुसंधान एवं विकास संस्थानों द्वारा विकसित स्वदेशी प्रौद्योगिकियों का व्यावसायिक दोहन करने के उददेश्‍य से की गई थी। 

सीईएल ने अपने अनुसंधान एवं विकास प्रयासों के द्वारा देश में सर्वप्रथम, रक्षा प्रयोगशालाओं सहित, प्रमुख राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं के निकट सहयोग से अनेक उत्‍पाद विकसित किए हैं। इन सभी प्रयासों की मान्यता स्‍वरूप सीईएल को "डीएसआईआर द्वारा अनुसंधान एवं विकास के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार" सहित अनेक प्रतिष्ठित पुरस्कारों द्वारा कई बार सम्मानित किया गया है।

सीईएल सौर फोटोवोल्‍टाइकी (एसपीवी) के क्षेत्र में देश में अग्रणी है और इसने अपने अनुसंधान एवं विकास के प्रयासों के द्वारा प्रौद्योगिकी का विकास किया है। इसके सौर उत्पाद अंतर्राष्ट्रीय मानकों आईईसी 61215/61730 के अनुरूप हैं।

सीईएल ने ट्रेनों के सुरक्षित संचालन हेतु रेलवे सिग्नलिंग प्रणाली में प्रयुक्‍त की जा रही एक्सल काउंटर प्रणाली भी विकसित की है। रेलवे उत्पादों में एकल खंड डिजिटल एक्सल काउंटर (एसएसडीएसी), उच्च उपलब्धता एसएसडीएसी (एचए- एसएसडीएसी) शामिल हैं, मल्टी-खंड डिजिटल एक्सल काउंटर (एमएसडीएसी) और यूनिवर्सल असफल सुरक्षित ब्लॉक इंटरफ़ेस (यूएफएसबीआई) के उपयोग द्वारा एक्सल काउंटर से ब्लॉक प्रूविंग (बीपीएसी) इन उत्पादों का सेनेलेक मानको के अनुसार डिजाइन एवं विकास किया गया है।

सीईएल द्वारा सामरिक अनुप्रयोगों के लिए अनेक महत्वपूर्ण घटकों का विकास किया है और रक्षा के लिए इन वस्तुओं की आपूर्ति की जा रही है।